अब पेट्रोल पंप पर कार्ड स्वाइप कर तेल के साथ कैश भी मिलेगा !

17

नोटबंदी के बाद लोगों को हो रही परेशानी को दूर करने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है, सरकार का ये कदम लोगों को थोड़ी राहत जरूर देगा।

नोटबंदी को लागू हुए आज 10 दिन हो गए लेकिन अभी भी लोगों की समस्याएं दूर नहीं हो रही हैं। ज्यादातक एटीएम में कैश नहीं है और जहां पर है वहां लंबी कतारें लग रही हैं। लोगों को हो रही परेशानियों से निजात दिलाने के लिए लगातार कोशिशें हो रही हैं, इसके तहत अब एक और नया कदम उठाया गया है। पेट्रोल पंपों पर पुराने नोट स्वीकार करने की तारीख 24 नवंबर तक बढ़ाई गई थी और अब पेट्रोल पंपों पर बैंकों की ओर से कैश देने की सुविधा भी शुरू की जा रही है, यानी पेट्रोल पंप से तेल ही नहीं कैश भी मिलेगा। नए आदेश के मुताबिक पेट्रोल पंप पर अपना डेबिट कार्ड स्वाइप करके 2000 रुपये तक लिए जा सकते हैं।

पेट्रोल पंपों पर ये सुविधा शुरू तो कर दी गई है लेकिन ऐसे पेट्रोल पंपों की संख्या अभी कम है जहां ये सुविधा शुरू हो पाई है। फिलहाल ये सुविधा देश के करीब 2500 पेट्रोल पंपों पर ही मिलेगी। इस तरह के पेट्रोल पंपों पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की पीओएस मशीनें मौजूद हैं, पीओएस मशीनें आमतौर पर डेबिट या क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन के लिए इस्तेमाल की जाती है। इस मशीन में डेबिट कार्ड स्वाइप कर एक व्यक्ति एक दिन में 2,000 रुपये तक की नकद राशि निकाल सकता है। ये व्‍यवस्‍था अगले कुछ दिनों के भीतर ही शुरू हो जाएगी। ये फैसला पब्लिक सेक्‍टर की तेल कंपनियों के अधिकारियों और एसबीआई चेयरमैन अरुंधती भट्टाचार्य की बैठक के बाद लिया गया।

तेल कंपनियां, एसबीआई और अन्‍य बैंकों से भी बातचीत कर रही हैं और इस नई व्‍यवस्‍था को धीरे-धीरे 20 हजार पेट्रोल पंप तक पहुंचाना चाहती हैं। यह सुविधा 24 नवंबर के बाद भी जारी रहेगी। अभी की व्यवस्था के मुताबिक 24 नवंबर तक ही पेट्रोल पंप 500 और 1000 रुपये के नोट स्‍वीकार करेंगे। तेल कंपनियां डेबिट या क्रेडिट कार्ड, मोबाइल वॉलेट जैसे कैशलेस ट्रांजैक्‍शन के प्रति लोगों का रुझान बढ़ाने के लिए जागरुकता अभियान चलाने की योजना भी बना रही हैं। इससे पहले तेल कंपनियों ने कहा है कि नोटबंदी के बाद भले ही पेट्रोल पंपों पर भीड़ बढ़ी हो लेकिन इसके चलते पेट्रोलियम उत्‍पादों की कोई किल्‍लत नहीं हुई है और उपभोक्‍ता अपनी जरूरत के हिसाब से खरीद सकते हैं।

इसके अलावा आज से एक नई व्यवस्था ये भी है कि सबको कैश मुहैया कराने के लिए नोट बदलने की सीमा घटा दी गई है। आज से आप 4500 रुपये नहीं बल्कि सिर्फ 2000 रुपये के ही पुराने नोट बदल पाएंगे। यानी 30 दिसंबर तक नोटों को जमा कराने की छूट है लेकिन तब तक भी एक बार में आप 2000 रुपये ही बदल पाएंगे। आपके पास 500-1000 के पुराने नोट ज्यादा हैं तो आप बैंक जाइये, अपने पैसे बैंक में जमा कराकर धीरे-धीरे बैंक काउंटर या एटीएम से जरूरत के मुताबिक पैसे निकालिए। सरकार ने दो दिन पहले ही ये सीमा 4500 रुपये की थी, लेकिन इसका गलत फायदा उठाए जाने से ये सीमा सिर्फ 2000 रुपये कर दी गई है।

शेयर करें